Home अपराध पुलिस ने 02 महिलाओं सहित चार (04) अभियुक्तों को किया गिरप्तार।

पुलिस ने 02 महिलाओं सहित चार (04) अभियुक्तों को किया गिरप्तार।

415
0
Google search engine

रंजीत सम्पदक

खटीमा द्वारा थाना कोतवाली खटीमा में एक तहरीर दी गयी कि दिनांक 15.05.2024 को वह पूरे परिवार के साथ कैंची धाम दर्शन के लिये गया था तो उसने अपने परिवार के समस्त सोने एवं चांदी के आभूषण वहीं घर में एक बक्से में रख दिये थे जब वादी  की शाम को घर वापस आया तो उसके घर का ताला टूटा था और उक्त बक्से का ताला तोड़कर अज्ञात लोगों द्वारा बक्से में रखे सोने चांदी के आभूषण एवं नकदी चोरी कर ली थी, जिस सम्बन्ध में थाना खटीमा पर FIR NO.172/2024 अन्तर्गत धारा 380/457 IPC पंजीकृत किया गया, घटना की सूचना पर क्षेत्राधिकारी महोदय खटीमा, प्रभारी निरीक्षक महोदय खटीमा द्वारा मय पुलिस टीम के तत्काल घटनास्थल का निरीक्षण किया गया तथा श्रीमान् वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय व श्रीमान पुलिस अधीक्षक अपराध रुद्रपुर, श्रीमान् पुलिस अधीक्षक महोदय रूद्रपुर के निर्देशन तथा श्रीमान् क्षेत्राधिकारी खटीमा में पर्यवेक्षण में उक्त घटना के शीघ्र अनावरण हेतु अलग- अलग पुलिस टीमें तैयार की गयी साथ ही SOG एवं सर्विलांस टीम तथा फोरेंसिक टीमों की मदद ली गयी, जिसमें पुलिस टीमों द्वारा घटनास्थल से मझौला, पीलीभीत, बरेली, खटीमा आदि जगहों के लगभग 200 सीसीटीवी फुटेज खंगाले गये, गहन पतारसी सुरागरसी की गयी, पूर्व में चोरी में जेल गये अभियुक्तों से लगातार पूछताछ की गयी, मुखबिरान मामूर कर अन्य साक्ष्य संकलन की कार्यवाही की गयी तो तथा अलग अलग टीमों को समय समय पर क्षेत्राधिकारी महोदय द्वारा घटना की गंभीरता को लेकर दिशा- निर्देश दिये जाते रहे ।

इसी क्रम में दिनांक 25.05.2024 को पुलिस टीम द्वारा हल्दी पुल मझोला के पास चैकिंग के दौरान मुखबिर की सूचना पर दो वाहन स्कूटी संख्या UK06AY8903 व मो0सा0 संख्या UP25-DV-6021 में 02 महिला व 02 पुरूष क्रमशः इमरान पुत्र सफी अहमद, खुशबू पत्नी असरफ उर्फ मुन्ना उर्फ कालिया, मो0 फैजान पुत्र वशुरुद्दीन, सिम्मी बी पत्नी मौ0 फैजान को पकड़ा गया, जिनकी जामातलाशी लेने पर कुल 154.56 ग्राम पीली धातु, तथा 801.5 ग्राम सफेद धातु के आभूषण बरामद हुए, उक्त बरामदगी की शिनाख्त थाना खटीमा में पंजीकृत FIR NO. 150/2024 के वादी राशिद अंसारी तथा FIR NO.172/2024 के वादी कैलाश जोशी द्वारा मौके पर आकर की गयी और बताया गया कि बरामदा आभूषण वही हैं जो उनके घर से चोरी हो गये थे। उक्त बरामदगी के आधार पर दोनों मुकदमों में धारा 411/413/414/120B/34/35 IPC की बढ़ोत्तरी की गयी, तथा बरामदा आभूषणों को कब्जे पुलिस लिया गया एवं चारों अभियुक्तगणो को गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ करने पर अभियुक्तगणों द्वारा बताया गया कि वह लोग गिरोह के रूप में काम करते हैं, जिसमें असरफ उर्फ मुन्ना उर्फ कालिया पुत्र लतीफ अहमद तथा अकील पुत्र मुन्ने चोरी करते हैं तथा चोरी किये गये आभूषणों को थोड़ा थोड़ा करके हम चारों में बांट देते हैं, फिर हम लोग उस सामान को खटीमा से दूरस्थ स्थानों में बेचकर उनसे अर्जित धन को अशरफ व अकील को दे देते हैं, उसमें से वह लोग हमें हमारा हिस्सा दे देते हैं। पकड़े गये अभियुक्त इमरान ने बताया कि अशरफ और अकील चोरी की घटना को अंजाम देने के लिये मेरी स्कूटी का इस्तेमाल करते हैं, टेड़ाघाट में चोरी करने के दिन भी असरफ उर्फ मुन्ना उर्फ कालिया और अकील ने मेरी इसी स्कूटी संख्या UK06AY8903 का इस्तेमाल किया था, मोटर साईकल अपाचे रंग काला संख्या UP25DV6021 के बारे में मो0सा0 चला रहे फैजान द्वारा बताया गया कि अकील द्वारा टेड़ाघाट में जो चोरी की थी उसमें से कुछ जेवर बेचकर उसने यह मो0सा0 बरेली से खरीदी है ।

MODUS OPERANDI— अभियुक्तगण एक संगठित गिरोह के रूप में थाना क्षेत्रान्तर्गत व बाहरी राज्यों में दुपहिया वाहनों को लेकर रैकी के लिए निकलते हैं तथा बन्द घरों को चिन्हित कर उनमें लगो तालों को आलानकब से तोड़कर घरों में रखे नगदी व जेवरात चोरी करते हैं जिसमें मुख्य रूप से अशरफ उर्फ कालिया व अकील बन्द घरों से चोरी करते हैं व प्राप्त जेवरात को बेचने के लिए इमरान, खुशबू , फैजान और सिम्मी को देते हैं तथा स्वयं अपने घरों को छोड़कर फरार हो जाते हैं। इसके बाद इमरान, खुशबू, फैजान व सिम्मी उक्त चोरी के आभूषणों को थोड़ी थोड़ी मात्रा में खटीमा शहर से दूरस्थ स्थानों में ले जाकर बेचते हैं और प्राप्त धनराशि को अशरफ व अकील को देते हैं जिसमें से अशरफ व अकील इनको इनका हिस्सा देते हैं।

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here