Home उत्तराखण्ड दो दिन पूर्व स्कूल के लिए निकली नाबालिग का पुलिस ने लगाया...

दो दिन पूर्व स्कूल के लिए निकली नाबालिग का पुलिस ने लगाया सुराग, दो युवकों को किया गिरफ्तार

154
0
Google search engine

रंजीत संपादक

जनपद ऊधम सिंह नगर के काशीपुर कुंडा क्षेत्र की नाबालिग को राजस्थान में बेचने और फिर बिहार की युवती को अपहरण करके काशीपुर में बेचने का मामला अभी शांत नहीं हुआ कि काशीपुर क्षेत्र में एक युवती का अपहरण करने का मामला सामने आया है। हालांकि, गनीमत यह रहा कि पुलिस ने समय रहते नाबालिग को मेरठ से आरोपितों के चंगुल से निकाल लिया है। मामले में पुलिस टीम जांच में यह भी पता करने की कोशिश करेगी कि इस पूरे मामले के पीछे कोई सुनियोजित गैंग तो काम नहीं कर रहा है। कुंडेश्वरी निवासी नाबालिग युवती के पिता ने बताया कि उनके पांच बच्चे हैं। जिसमें से दो बड़ी बेटी की शादी कर चुके हैं, दो बेटे हैं जो प्राइवेट नौकरी करते हैं। वह खुद मेनहत मजदूरी करके बच्चों का पालन पोषण करते हैं। सबसे छोटी बेटी है, जिसे वह पढ़ाना चाहते हैं। उसे काशीपुर के मुख्य बाजार स्थित एक स्कूल में 9वीं कक्षा में पढ़ रही है। बताया कि उनके गांव में ढकिया खादर थाना रेहरा अमरोहा यूपी निवासी दीपचंद्र पुत्र प्रकाश सिंह की रिश्तेदारी है। एक साल पहले आरोपित दीपचंद्र उनके पड़ोस में अपने रिश्तेदार के यहां शादी समारोह में आया था। इसी बीच दीपचंद्र और नाबालिग से संपर्क हो गया। दोनों की आपस में बात होने लगी। इस बात को उन्हें इससे पहले कुछ भी पता नहीं था। 7 जुलाई को स्कूल के लिए घर से निकली बेटी गायब हो गई। खोजबीन में स्कूल से पता चला कि उसके साथ कुंडा क्षेत्र निवासी उसकी एक सहेली भी गायब है। आरोपित युवक ने दोनों युवतियों को लेकर अमरोहा पहुंचा। जहां उसने युवती के साथ दुष्कर्म किया, यह देखकर कुंडा की युवती ने जैसे तैसे वहां से भागकर काशीपुर वापस आ गई।

पुलिस के एक अफसर ने बताया कि ढकिया खादर थाना रेहरा अमरोहा निवासी 18वर्षीय दीपचंद्र ने काशीपुर की 17 वर्षीय नाबालिग को अपहरण करके अमरोहा ले गया। जहां पर उसने युवती से दुष्कर्म किया। उसके बाद परिजनों के डर से दीप चंद्र ने 23 वर्षीय रोहित पुत्र अंतरपाल निवासी चनपुरा खरखौदा मेरठ को सौंप दिया। रोहित ने नाबालिग को मेरठ में लेकर वहां उसके साथ दुष्कर्म किया। उसके बाद वहां से वह नाबालिग को दूसरी के हाथ बेचने की फिराक में था। पुलिस ने अमराेहा निवासी दीपचंद्र को लेकर मेरठ पहुंची। जिसकी भनक रोहित को लग गई और वहां से वह फरार होने की फिराक में था। इतने में पुलिस की टीम ने मौके पर छापेमारी करके नाबालिग और आरोपित युवक को गिरफ्तार कर ली। वही काशीपुर से अपहरण की गई युवती को ढूढ़ने में काशीपुर एसओजी टीम की अहम भूमिक रही। अन्यथा नाबालिग को खोजने में देरी करने पर उसका पता लगा मुश्किल हो जाता। युवती की अपहरण की सूचना पर एसओजी ने युवती के फोन नंबर का सीडीआर निकाली। जिसमें एक नंबर पर लगातार बात होने की पुष्टि हुई। उस नंबर का लोकेशन अमरोहा में पाया गया। जिसका पीछा करके पुलिस अमरोहा पहुंची और दीपचंद्र को हिरासत में लेकर मेरठ पहुंची। जहां से युवती को बरामद किया गया।

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here