Home उत्तराखण्ड सूडान में फंसे नागरिकों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी! जिलाधिकारी युगल किशोर...

सूडान में फंसे नागरिकों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी! जिलाधिकारी युगल किशोर पंत के हेल्पलाइन नंबर पर दे सकते हैं जानकारी

249
0
Google search engine

रंजीत संपादक

गृह युद्ध के बीच सूडान में फंसे भारतीयों की वापसी के लिए जनपद ऊधम सिंह नगर के जिलाप्रशासन ने भी हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। हालांकि अभी जनपद ऊधम सिंह नगर से किसी व्यक्ति के सूडान में फंसे होने की पुष्टि नहीं हुई है। बावजूद इसके एहतियात के तौर पर ऐसे नागरिकों के परिजनों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। जनपद के जिलाधिकारी युगल किशोर पंत ने अपील भी की है कि यदि किसी का परिजन सूडान में फंसा है तो संबंधित नम्बरों पर संपर्क कर सकते हैं।सूडान में इन दिनों गृह युद्ध चल रहा है। जिससे पूरे देश में अफरा-तफरी के हालात बने हुए हैं। बड़ी संख्या में भारतीयों के सूडान में फंसे होने की बात भी सामने आ रही है। उन्हें केंद्र सरकार सुरक्षित वापस लाने में जुटी है। इसी कड़ी में जनपद ऊधम सिंह नगर जिलाप्रशासन ने हेल्पलाइन नंबर नम्बर 05944-250250 / 250719 टोल फ्री नं0 1077 और email-ddmausn@ gmail.com जारी किया है। इसके लिए आपको सूडान में फंसे व्यक्ति का नाम, पासपोर्ट नंबर, सूडान का मोबाइल नम्बर, सूडान में किस क्षेत्र में वह मोजूद है, इस बारे में जानकारी देनी होगी। जिलाधिकारी युगल किशोर पंत ने बताया कि विदेश मंत्रालय भारत सरकार द्वारा सूडान संकट के कारण सूडान में फंसे भारतीय नागरिको की सकुशल वापसी के लिए प्रयास किये जा रहे हैं। इसके लिये सूडान में फंसे हुए भारतीय व्यक्तियों की ट्रैकिंग कराने के लिए उनके विवरण संकलित किया जा रहा है। इसी क्रम में जनपद अन्तर्गत निवास कर रहे ऐसे नागरिक जिनके परिजन सूडान में फसे हुये हैं। उनके परिवार के समस्त सदस्यों के नाम पासपोर्ट नम्बर और सूडान सम्पर्क नम्बर वट्सएप नम्बर तथा यदि व्यक्ति की लोकेशन का पूर्ण पता सम्भव हो तो जिला आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण कार्यालय के कन्ट्रोल रूम के नम्बर 05944-250250 / 250719 टोल फ्री नं0 1077 email-ddmausn@ gmail.com पर उपलब्ध कराने का कष्ट करें। जिलाधिकारी ने बताया कि प्राप्त सूचना शासन को उपलब्ध कराते हुये भारत सरकार को प्रेषित की जायेगी, जिससे सूडान में फसे भारतीय नागरीको को सकुशल वापसी हेतु देशवासियों द्वारा एंबेसी के माध्यम से आवश्यक सहयोग प्राप्त होगा।

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here