Home उत्तराखण्ड कांग्रेस नेताओं ने गिनाई मोदी सरकार की विफलताएं

कांग्रेस नेताओं ने गिनाई मोदी सरकार की विफलताएं

190
0
Google search engine

रंजीत कुमार

रूद्रपुर। कांग्रेस जिलाध्यक्ष हिमांशु गावा, महानगर अध्यक्ष सीपी शर्मा ने पत्रकार वार्ता में महंगाई, रोजगार समेत कई मुद्दों पर मोदी सरकार के खिलाफ आरोपों की बौछार की है। कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि चुनाव नजदीक देख अब मोदी सरकार को गैस सिलेण्डर की कीमतें कम करने की याद आ गयी है। यह चुनावी शिगूफा है। जनता अब ऐसे प्रलोभनों में नहीं फंसने वाली। कांग्रेस नेताओं ने पूरे देश में गैस सिलेंडर की कीमतें पांच सौ रूपये करने की मांग भी की।

कांग्रेस जिला कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में कांग्रेस जिलाध्यक्ष हिमांशु गावा ने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में महंगाई सातवें आसमान पर पहुंच चुकी है। आम आदमी का घर चलाना मुश्किल हो गया है। रोजमर्रा की जरूरी वस्तुओं के दाम तेजी से बढ़ रहा है। फल और सब्जियां के साथ साथ दालें भी आम आदमी से दूर हो गयी हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देंगे, लेकिन पहले साल सिर्फ 17 लाख रोजगार मुहैया करा सके। गावा ने मंदी के अलावा निर्यात और औद्योगिक विकास घटने का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार में पीएम रहे मनमोहन सिंह को साइलेंट मोड में कहा जाता था। जो लोग यह आरोप लगाते थे, वे अब फ्लाइट मोड में हैं। उन्होंने कहा कि आम लोगों के कितने अच्छे दिन आए हैं, यह इसी से पता चलता है कि साल 2014 के अंत तक वेतन में बढ़ोतरी गिरकर 3.8 फीसदी रह गई। यह जुलाई 2005 के बाद सबसे कम है। वहीं, जेम्स एंड ज्वेलरी, आईटी, हैंडलूम, बीपीओ और पावरलूम सेक्टर्स में मंदी आ रही है। श्रमिकों के हित से जुड़े कानूनों को भी बदला जा रहा है और उद्योगपतियों को इस तरह के कदमों के जरिए फायदा दिलाया जा रहा है।

श्री गावा ने कहा कि मोदी सरकार ने अपने वादे तो पूरे नहीं किए, इसके उलट अपनी नासमझी से देश को आफत में डाल दिया। नोटबंदी ने अर्थव्यवस्था चौपट कर दी, बैंक की लाइनों में लोगों की मौत हुई। कौन भूल सकता है उस भयावह मंजर को। गब्बर सिंह टैक्स से व्यापारी तबाह हैं। आए दिन इसका विरोध होता है, लेकिन सुनने वाला मोर को दाने देने में व्यस्त रहे तो लोग क्या करें। अग्निवीर के फैसले ने युवाओं के सपनों को कुचल दिया। जब वो विरोध में उतरे तो उन्हें धमकाया गया कि उनका भविष्य चौपट कर दिया जाएगा। मोदी सरकार जनता को डराकर-धमकाकर, सत्ता को खरीदकर, मित्र को सब बेचकर मौज करने के फार्मूले पर चल रही है।

महानगर अध्यक्ष सीपी शर्मा ने कहा विकास का नारा देकर सत्ता में आई मोदी सरकार पुरानी तारीखों से टैक्स लगा रही है। कहा कि सांप्रदायिक हिंसा की घटनाएं हो रही हैं। इससे भी निवेशक डरे हुए हैं। मोदी सरकार ने वादे पूरे करने की जगह बीते एक साल में सिर्फ खुद के प्रचार-प्रसार का काम किया। विकास के बारे में सिवाय गलत जानकारी देने के सरकार कुछ नहीं कर रही है। मोदी सरकार का कार्यकाल नाकामी का कार्यकाल हैं। देश की बदहाली के 9 वर्षों में लोगों को महंगाई, बेरोजगारी और तानाशाही फैसलों की मार झेलनी पड़ी। जुमलों के दम पर सत्ता में आई मोदी सरकार ने अपना एक भी वादा पूरा नहीं किया। बस तारीख पर तारीख देते रहे। 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का वादा, 2022 तक सबको घर देने का वादा, कालाधन लाकर 15 लाख देने का वादा, हर साल 2 करोड़ नौकरी का वादा। इनके जुमले गिनने बैठें तो गिनते हुए कई दिन बीत जाएंगे।

 

महानगर अध्यक्ष ने कहा मोदी सरकार के खिलाफ आम जनता तो दूर जनता के चुने हुए प्रतिनिधि सांसद भी अगर आवाज उठायें तो उन पर मुकदमे लगाकर आवाज को दबाने की कोशिश की जाती है। मोदी सरकार की नीति है कि कोई आवाज उठाए तो उसे दबा दो, कुचल दो, जेल में ठूंस दो, बुलडोजर चला दो। ईडी और सीबीआई का डर दिखाओ। कहीं सरकार न बने तो पैसे के दम पर सत्ता खरीद लो और लोकतंत्र की हत्या कर दो। देश के पोर्ट, एयरपोर्ट, बड़े प्रोजेक्ट मित्र को बेच दो और आराम से मित्रता निभाओ।

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि मोदी सरकार की नाकामी की बातें इतनी हैं कि कई किताबें लिख दी जाए। अब जनता मोदी के जुमलों से तंग आ चुकी है। कर्नाटक का चुनाव इसका सबूत है, जहां जनता ने सीधे तौर पर मोदी और उनकी भ्रष्ट सरकार को नकार दिया। ये असंतोष की लहर दक्षिण से चली है जो पूरे देश को ख़ुद में समेट लेगी। जनता इंतजार में है और आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा को हराकर हिसाब चुकता करेगी।

 

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here